Home

स्वरचित रचनाओं के संग्रहण में आपका स्वागत है 🙏

Latest from the Blog

अमर शहीद

अमर शहीद बन दूर गगन में,चमक उठा जो ध्रुव तारा।नेताजी का नाम पाकर,सुभाष बन गया सबका प्यारा। आजाद हिन्द फौज बना,भारत को जिसने संवारा।खून के बदले आजादी का,जिसने दे डाला एक नारा। भारत, बर्मा, सिंगापुर में,युवाओं को जिसने पुकारा।मेरे देश के वीर सपूतों जागो,आजाद कराओ देश हमारा। मातृभूमि के बंधन को देख,जिसका जी भर –Continue reading “अमर शहीद”

खुशियों का पर्व

सूरज बन मतवाला मकर राशि में चला आया,उत्तरायण पर्व की खुशियां अपनी झोली में भर लाया।गुड़ तिल की महक संग जीवन में मिठास देने आया,नीलगगन में रंगीन पतंगों के विहंगम दृश्य ने दिल लुभाया। दान धर्म संग पूजा पाठ का महत्व सभी को बतलाने आया,नेपाल में फसल कटाई का उत्सव सबने खुशी संग मनाया।हरियाणा,पंजाब मेंContinue reading “खुशियों का पर्व”

युवाओं से आह्वान

उठो जागो मेरे देश के युवाओं देश ने पुकारा है तुम्हें,भौतिक सुखों का कर त्याग देशहित में जुट जाना है तुम्हें।इस देश को स्वर्ग बनाने की तुम्हारी शक्ति को जगाना है तुम्हें,विवेकानंद जी की कर्मभूमि है अब कर्मठता दिखाना हैं तुम्हें। लोभ, लालच और भ्रष्टाचार देश से उखाड़ फेंकना हैं तुम्हें,देश पर मरने -जीने काContinue reading “युवाओं से आह्वान”

भारत माँ का लाल

भारत के ऐसे लाल जो थे पूर्व में गुजरात प्रदेश के मुख्यमंत्री,बदल दी जिन्होंने काया अपने रहते सम्पूर्ण गुजरात की। दो-दो बार पाकर सम्मान बने भारत के यशस्वी प्रधानमंत्री,71 के होकर सीने में लिए हुए हैं जज्बात 21की उम्र के ही। भारत को जग सिरमौर बनाने के विचार को संजो कर मन में,राम मंदिर केContinue reading “भारत माँ का लाल”

Loading…

Something went wrong. Please refresh the page and/or try again.

Connect with me via

मेरी नयी रचनाओं को सीधे ईमेल में प्राप्त करने हेतु कृपया सब्सक्राइब करे