Home

स्वरचित रचनाओं के संग्रहण में आपका स्वागत है 🙏

Latest from the Blog

भाई दूज

बहनों के सम्मान की रक्षा के लिए भाई दूज का पर्व आया। भाइयों ने रक्षा कवच का उपहार देने का प्यारा सुअवसर पाया। भाई बहन के प्यार भरे रिश्ते में मधुरता का साज सजता रहे।  सपना हमने अपने मन में सजा भगवान से आशीर्वाद यह चाहा । धन-दौलत की बरसात और सुख समृद्धि से परिपूर्णContinue reading “भाई दूज”

दीपोत्सव

श्री राम के स्वागत में अयोध्या वासियों की तरह जुट जाओ।स्वादिष्ट मिष्ठान बना गणेशजी संग मां लक्ष्मी घर ले आओ।नए परिधान कर धारण दीपोत्सव की खुशियां अपनों संग मनाओ।धन वैभव संग संपत्ति आए ऐसी रंगोली से घर द्वार सजाओ।अज्ञानता रूपी तिमिर को दूर कर ज्ञान की नई ज्योत जलाओ।नई रोशनी के पलों से पूर्ण चारोंContinue reading “दीपोत्सव”

“धनतेरस पर्व”

कार्तिक कृष्ण की त्रयोदशी का प्यारा पर्व है आया,विष्णु वंशावतार धनवंतरी ने हमारा उत्साह बढ़ाया।अमृत कलश ले प्रकट हो चिकित्सा में चमत्कार दिखलाया। भारत सरकार ने धन तेरस को चिकित्सा दिवस मनाया। कुबेर को कर प्रसन्न पूजा स्थल में दीप जला खुशियां लाए।यमदेवता के लिए मुख्य द्वार पर दीपक एक जलाए ।समुद्र मंथन के समयContinue reading ““धनतेरस पर्व””

संदेश दशहरे पर्व का

दशहरा पर्व संदेश यह लाया करो सत्य से प्रित तो होगी आपकी जीत,केवल भलाई की चाहते हो जीत तो बुराई से बिलकुल ना करो तुम प्रीत।छल, कपट, अभिमान ने रावण को दिलाई करारी हार न पाया वह जीत।शिवजी के परम भक्त ने कर दी थी नादानी, लगा ली माँ सीता से प्रीत। छल-कपट से उसनेContinue reading “संदेश दशहरे पर्व का”

Loading…

Something went wrong. Please refresh the page and/or try again.

Connect with me via

मेरी नयी रचनाओं को सीधे ईमेल में प्राप्त करने हेतु कृपया सब्सक्राइब करे