नौ स्वरूप की महिमा

प्रथम स्वरूप में माता तूने सती स्वरूप का त्याग किया,पर्वत सुता होने के कारण शैल पुत्री का नाम मिला।बैठी वृषभ राज पर माता भक्तों का उद्धार किया,माँ महिमा गाकर सबने गरबा नृत्य और भजन किया। द्वितीय स्वरूप में माता तूने तप,आचारण और ध्यान किया ,दक्ष प्रजापति के घर जन्मी माँ ब्रह्मचारिणी नाम मिला।सदाचार-संयम का माँContinue reading “नौ स्वरूप की महिमा”

नवरात्रि पर्व

शक्ति उपासना के पावन पर्व पर, शक्ति और बुद्धि बढ़े।सच्चे मन की आराधना से, धन,वैभव संग लक्ष्मी बढ़े।आरोग्य जीवन जीने के आशीर्वाद से स्वास्थ्य लाभ बढ़े।मां दुर्गा के वरद हस्त से हमारी अनन्त खुशियां बढ़े। सद् विचारों को धारण कर सुसंस्कारों संग आगे बढ़े।दीन दुखियों के सहायक बन उनके लिए सुन्दर जीवन गढ़े।मां का आशीर्वादContinue reading “नवरात्रि पर्व”

बेटी 👩‍⚖️

अमित बुध्दि से भरपूर जीवन है बिटिया रानी तुम्हारा, हैलक्ष्य रहित ना रहना यही है सदा अपने मन में तूने विचारा।मंजिलों को पाने के लिए अपने सपनों को है संजोया,हौंसले की उड़ान मन में भर तूने पंखों को है फैलाया। उस सीमा तक पहुंचने का अब तुमने अपना मन है बनाया,जहां से आगे चल राहContinue reading “बेटी 👩‍⚖️”

विनम्र श्रद्धांजलि

दिल की कलियां खिला लोगों को हंसाने का हुनर था तुम्हारे पास,अब कैसे आएगी लोगों के चेहरे पर मुस्कान कैसे होगी पूरी आस। भगवान तूने भी तो सुननी थी हम सब के दिलों की अरदास,शायद तुझे भी थी कोई हास्य महफिल की दिल से गहरी आस। इसी कारण भाई राजू को तूने बुला लिया इतनीContinue reading “विनम्र श्रद्धांजलि”

‘हिन्दी दिवस’

हिन्दी बन जन मानस की अति प्रिय भाषा।तार दिलों के जोड़ने की जगाती है सबमें आशा।सभ्यता- संस्कृति की जो बताती है सबको परिभाषा।निराली लिपि भी इसकी बनाती इसकी सरल भाषा। जैसे बोले वैसे ही लिखती जाए यह भाषा।प्राचीन भाषा पाली का ही विकसित रूप ये भाषा।महाकवि केशव,भूषण, बिहारी के मन की भाषा।पंत, निराला, प्रसाद केContinue reading “‘हिन्दी दिवस’”

शिक्षक

ज्ञान के साथ मान बढ़ाए शिक्षक का श्रमदान है।हम सब करते आए ऐसे शिक्षक का सम्मान है।उनके हौंसले हिमालय से गहराई सागर समान है।एकलव्य को शिक्षक की मूर्ति ने ही बनाया महान है।बालकों के जीवन में संस्कारों का लाता तू तूफान है।तेरी जिव्हा पर विराजित मां सरस्वती महान है।बगैर तेरे शिष्यों का जीवन भी होContinue reading “शिक्षक”

“असली खुशी”

आज रजनी की खुशी का ठिकाना नहीं था। उसकी इकलौती बेटी चिंकी का आज जन्मदिन था। वह सुबह से ही इस उधेड़ बुन में थी कि वह अपनी बेटी को आज क्या तोहफ़ा देगी? उसने कई बार अपने पति राजीव से इस संबंध में बात की, परन्तु उसे कोई संतोष जनक जवाब नहीं मिल पाContinue reading ““असली खुशी””

“पर्व रक्षा बंधन का”

प्रेम,स्नेह,सम्मान,सुरक्षा का पर्व है रक्षा बंधन का त्योहार।सनातन धर्म में सद्भावना पूर्वक मनाया जाता है यह त्योहार।शास्त्र, पुराण, वेद करते हैं गुणगान जिससे और भी खास बन जाता है यह त्योहार।बहनों द्वारा भाई की सुनी कलाई पर रक्षा का सूत्र बांधने की याद दिलाता है यह त्योहार।मुगल सम्राट हुमायूं को रानी कर्णावती ने राखी बांधContinue reading ““पर्व रक्षा बंधन का””

‘ मित्रता ‘

अजनबियों से कैसा ये अनजाना रिश्ता मैंने बनाया। हर मुश्किल में मेरा साथ निभा उन्होंने ही मेरा हौंसला बढ़ाया।खून के रिश्ते भी मुसीबत के समय कर लेते हैं किनारा। अजनबियों से अजीज बने दोस्तों ने जीवन में साथ निभाया। ऐसे मधुर रिश्ते का आभार जताने का शुभ दिन आज आया।खुशनसीब हूं मैं असीम- निश्छल प्यारContinue reading “‘ मित्रता ‘”

गुरुगान

गुरुपूर्णिमा की हार्दिक बधाई के साथ समस्त गुरु वृंद के चरणों में शत शत नमन🙏🙏गुरुगानगुरू देता सत्य का ज्ञान जिससे संकट दूर हो जाता है सारा।सूर्य सा तेजस्वी स्वरुप ले गुरु ने सबका जीवन संवारा।अज्ञानता के घोर तम से गुरू की अलौकिक शक्ति ने उबारा।आशीर्वाद हो गुरु का तो हर मुश्किल से मिल जाता हैContinue reading “गुरुगान”